डॉ. राजेन्द्र प्रसाद (1884-1963)

1916 से राजनीतिक जीवन प्रारंभ किया।
बिहार से प्रमुख कांग्रेसी नेता, गांधी जी के अनन्य अनुयायी, सभी प्रमुख आंदोलनों में सक्रिय भागीदारी ।
1934 ई. के बंबई अधिवेशन में कांग्रेस के अध्यक्ष बने ।
1946 ई. में खाद्य तथा कृषि मंत्री, संविधान सभा के अध्यक्ष तथा 1950 ई. में भारत के प्रथम राष्ट्रपति बने ।
प्रमुख पुस्तकें- इंडिया डिवाइडेड, महात्मा गांधी एवं बिहार ।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top