सकारात्मक सोच बहुत है जरूरी।

दोस्तों कैसे है आप,और कैसी चल रही है आपकी exam yatra, आपकी सफलता की इस journey में हम आपकी कुछ मदद कर पाते हैं तो हम को ऐसा लगेगा कि हमारा ये प्रयास कुछ सफल रहा है।आप सभी जानते है कि हम अपने प्रत्येक ब्लॉग में कोशिश करते हैं कि आप को कुछ ऐसा बता पाए कि आप को आपकी सफलता में कुछ मदद हो सके हम जानते हैं कि एक student किन किन परिस्थितियों से होकर गुजरता है।कितनी ही विषम परिस्थितियों में रहकर तैयारी करनी पड़ती हैं।कभी कभी बार बार असफलता का सामना करना पड़ता हैं।कभी attempt खत्म होने की चिंता तो कभी over age हो जाने का डर तो कभी रोज नई अफवाये कि कभी pattern change हो रहा है या इस बार vacencies बहुत कम आयेंगी etc। ऐसी अवस्था में छात्र छात्राओं को अपनी जीवन चर्या में समय निकाल कर अपने मनोरंजन पर भी कुछ ध्यान अवश्य देना चाहिए क्योंकि हमने पहले भी बताया है कि study एक मानसिक कृत्य है और हम इस कृत्य को सुचारू रूप से तभी कर पाएंगे जब हमारे मन मस्तिष्क को भी आराम मिलता रहें और उसके लिए सबसे जरूरी हैं एक स्वस्थ मनोरंजन। मनोरंजन हम सभी के जीवन में व्यक्तित्व विकास के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है और एक student की लाइफ में तो मनोरंजन बेहद जरूरी भी है।अब बात आती हैं कि एक student अपने मस्तिष्क को आराम कैसे प्रदान करें । जो भी छात्र छात्राएं घर से बाहर रह कर तैयारी कर रहे हैं उनके लिए यह बहुत ही ज्यादा जरूरी हैं कि वो अपनी पढ़ाई के साथ अपने को भी समय दे अगर आप ऐसा नहीं करते तो आप अपने को तनावग्रस्त महसूस करेंगे।अगर आप चाहते हैं कि आप अपने को तरोताजा महसूस करें तो आप को अपने को खुश रखना आना चाहिए।खुशनुमा माहौल में आपका मन पढ़ाई में और भी अच्छे से लगेगा और आप को अपना पढ़ा हुआ जल्दी याद हो जाएगा आप जितना तनाव मे रहेंगे तो आपके आस पास नकारात्मक ऊर्जा का वास हो जाएगा इसलिए हमेशा ध्यान रखें कि आपको खुशनुमा माहौल बना के रखना है और अपनी असफलता से घबराएं नहीं बल्कि और मेहनत करके आगे बढ़ते रहें यदि एक राह बंद होगी तो अनेक राहें बनेंगी।

दोस्तों के साथ करिए बातचीत ।

जैसा कि आप सभी जानते है कि मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है सदा से ही मनुष्य ने कबीले हो ग्राम या उस से पहले की कोई मानव निर्मित सामाजिक इकाई हमेशा ही मानव ने समाज का निर्माण किया है। Competitive exam’s की तैयारी करने वाले छात्र अक्सर अकेलेपन का शिकार हो जाते हैं इसलिए ही students को किसी ना किसी स्वस्थ मनोरंजन का सहारा लेना चाहिए।जिस मे सबसे अच्छा तरीका है कि जब हॉस्टल में या रूम लेकर बाहर रह रहे हैं तो आपको अपने दोस्तों के साथ बातचीत करते रहना चाहिए।

इलाहाबाद प्रयागराज की प्रसिद्ध चाय पर चर्चा।

जो भी छात्र रूम लेकर बाहर रहते हैं या किसी हॉस्टल में रहते हैं वो अक्सर अकेलेपन को महसूस करते हैं ऐसे में वो चाय पीने tea stall per जाते है। वहां उनको अपने और भी बहुत से छात्र साथी मिलते हैं जहां पर exam से संबंधित चर्चा होना आम बात है जो स्वस्थ मनोरंजन भी करता है।कई शहरों में जहां student चाय पीने जाते है उनकी चर्चा उनको जीवन भर याद रहती हैं। वहां पर थोड़ा हंसना और बातें करने से आपका तनाव कम होता है। किन्तु एक बात का ध्यान अवश्य रखें कि आप किसी भी चर्चा में शामिल हो तो उस मे बहस ना करें क्यों कि ऐसा करने से आपका मनोरंजन कम और मूड ज्यादा खराब होगा।हमको अपनी पढाई के दौरान छोटी बड़ी सभी बातों का ध्यान रखना होगा। जब कोई छात्र हॉस्टल में या कहीं रूम लेकर रहता है तो उसको अपने मन मस्तिष्क की शांति के लिए अपने आस पास के छात्रों से बातचीत करते रहना चाहिए जिस से छात्रों को तनाव से मुक्ति मिलेगी।जो छात्र ये सोचते हैं कि हम इस तरह से चर्चा परिचर्चा करेंगे तो हमारा समय बर्बाद होगा तो ये सिद्धांत सही नही है जबकि जब हम आपस में बातें करते हैं तो पूरे दिन की पढ़ाई का जो तनाव होता है वो कुछ कम हो जाता है और फिर जब हम दोबारा पढ़ना शुरू करते हैं तो और अधिक तेजी से हम अपनी पढ़ाई को समझ पाते हैं।इसलिए एक तो इस से आपका मंनोरंजन हो जाता है और दूसरा आपका तनाव कम होता है।

रेडियो का ले सहारा।

स्वस्थ मंनोरंजन की बात हों और radio की बात नहीं हो ऐसा कैसे संभव है इसलिए आप रेडियो के द्वारा भी अपना मंनोरंजन कर सकते है और साथ ही अपना ज्ञानवर्धन भी कर सकते हैं इसलिए आप चाहें तो अपनी exam यात्रा में आप रेडियो को भी शामिल कर सकते हैं रेडियो पर आने वाले कार्यक्रम ना केवल आपका मनोरंजन करेंगे बल्कि exam ki तैयारी में आपकी मदद भी करेंगे।साथ ही सोने से पहले कुछ देर रेडियो सुनने से आपको नींद भी जल्दी आ जाएगी।और mobile phone और गेम्स की तरह से हमारा समय भी बर्बाद नहीं करेगा । पुराने गीत आपका मनोरंजन करेंगे साथ ही आप देश विदेश के समाचार भी सुनेगे।कुछ परिचर्चा वाले कार्यक्रम आपके essay और अन्य exam में भी काम आयेंगे।साथ ही आपको motivaion भी मिलेगा। जो छात्र छात्राएं अपना घर छोड़कर किसी और शहर में रह कर तैयारी कर रहे होते हैं वो अक्सर अकेलेपन तनाव और अवसाद का शिकार हो जाते है,बार बार असफल होने , भविष्य की चिंता , कठिन syallbus आदि बाते आपको परेशान करती है आपकी इन सब विचारों को अपने मन मस्तिष्क में आने ही नहीं देना हो सकता है और खुश रहना है और अपने मंनोरंजन के लिए बहुत ही सस्ता और टिकाऊ साधन रेडियो का सहारा लेना है हम mobile phone से मनोरंजन की बात इसलिए नहीं करते क्यों कि ये आपका बहुत ही ज्यादा समय बर्बाद कर सकता हैं किंतु रेडियो कभी आपका समय बर्बाद नहीं करेगा। मोबाइल आपने एक बार देखना शुरू किया कि पता चला कि आप का बहुत ही महत्वपूर्ण समय बर्बाद हो गया इसलिए आप रेडियो कार्यक्रम को सुने और अपने लक्ष्य की तरफ बढ़ते रहें।खास कर आप रेडियो पर पुराने गीत संगीत का को सुनकर आपके मन मस्तिष्क को शीतलता भी प्राप्त होगी और आप का मनोरंजन भी हो जाएगा ।

REASONING SOLVE करे।

यदि आप का मन नहीं लग रहा है और पढ़ने का भी मन नहीं कर रहा ऐसे में आप रीजनिंग के questions solve कर सकते हैं जिस से आपका मनोरंजन भी होता रहेगा और आपका एक टॉपिक भी तैयार हो जाएगा।बहुत से छात्र पुराने समय में पत्र पत्रिकाओं में आने वाली वर्ग पहेली हल किया करते थे किंतु अब सभी के पास मोबाइल फोन होने के कारण टाइम पास करने पर किया करें जैसी कोई बात नहीं है इसलिए अब वर्ग पहेली हल करने का शौक कम हो गया है किंतु ये भी सच है कि वर्ग पहेली हल करने से हमारा मस्तिष्क sharp होता है इसली यदि आपको अपना मनोरंजन करना है तो आप reasoning को सॉल्व कर सकते है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top